रविवार, दिसम्बर 16"Satyam Vada, Dharmam Chara" - Taittiriya Upanishad

योग

भगवान् शंकराचार्य द्वारा स्थापित चार मठ

भगवान् शंकराचार्य द्वारा स्थापित चार मठ

https://www.youtube.com/watch?v=x2ko_RDhLFc?cc_lang_pref=hi&cc_load_policy=1 भगवान् शंकराचार्य जानते थे, कि उनके जाने के बाद भी, भारत के ऊपर शस्त्र युद्द, वैचारिक युद्द और सांस्कृतिक युद्द थोपे जायेंगे I जानते थे वोह इस बात को, इसीलिए, भगवान शंकराचार्य ने चार वेदों की रक्षा के लिए, भारत की चार दिशाओं में, चार आम्नाय मठो की स्थापना करी, आम्नाय का मतलब होता हैं, वेद I और आम्नाय पीठ का मतलब होता हैं वैदिक पीठ I तो चार आम्नाय पीठों की स्थापना करी भगवन शंकराचार्य ने, भारत की चार दिशाओं में I चार वेदों की रक्षा के लिए और चार धामों की रक्षा के लिए I भगवान् शंकराचार्य ने उत्तर दिशा में श्री उत्तराम्नाय ज्योतिर्मठ की स्थापना करी I और ज्योथिर्माथ का वेद जो हैं, वोह अथर्व वेद हैं, यानी जो ज्योतिर्मठ जो है, अथर्व वेद के जो सहिताएं हैं, जो ब्राह्मण ग्रन्थ हैं, जो आरण्यक ग्रन्थ हैं, जो उपनिषद्
सद्गुरु और ईशा योग केंद्र पर आस्था चैनल की डाक्यूमेंट्री – भाग 2

सद्गुरु और ईशा योग केंद्र पर आस्था चैनल की डाक्यूमेंट्री – भाग 2

Courtesy: - Sadhguru Hindi YouTube Channel पेश है अक्टूबर 2011 में आस्था चैनल द्वारा ईशा योग केंद्र और सद्गुरु पर बनाई हुई डाक्यूमेंट्री का दूसरा भाग। इस भाग में देखिए ईशा योग केन्द्र के विभिन्न शक्ति-केन्द्र और सद्गुरु के मार्गदर्शन में चल रही ईशा फ़ाउन्डेशन की विभिन्न सामाजिक परियोजनाओं को। आइये, आप भी इस डाक्यूमेंट्री के माध्यम से ईशा योग केंद्र की यात्रा कीजिए... https://www.youtube.com/watch?v=bVMjQhW_7jU