व्यवसाय उपनिषद्: उद्यम धर्म से क्यों और कैसे जुड़े? — अरविन्द अग्रवाल का व्याख्यान

व्यवसाय उपनिषद प्रगतिशील उद्यमी-व्यवसाई परिवारों के लिए एक वृहद मार्गदर्शन देनेवाली पद्धति है इसके तीन भाग हैं, प्रथम भाग 512 पृष्ठों की हार्डकवर पुस्तक, द्वितीय…

View More व्यवसाय उपनिषद्: उद्यम धर्म से क्यों और कैसे जुड़े? — अरविन्द अग्रवाल का व्याख्यान

वैदिक परम्पराओं का उद्धार: चुनौतियाँ और अवसर — मोहित भारद्वाज का संगम व्याख्यान

आज हम ऐसे मोड़ पर खड़े हैं जहां हम ये जानते हैं कि बहुत कुछ हम खो चुके हैं परन्तु बहुत कुछ बचाने का एवं…

View More वैदिक परम्पराओं का उद्धार: चुनौतियाँ और अवसर — मोहित भारद्वाज का संगम व्याख्यान

बौद्ध धर्म के चंदो क्रिया की तुमो ध्यान की समानता

निश्चित रूप से बौद्ध साहित्य का पश्चिमी साहित्य में बहुत बेहतर अध्ययन किया गया है, क्योंकि मुझे लगता है कि वे दुनिया भर में फैले…

View More बौद्ध धर्म के चंदो क्रिया की तुमो ध्यान की समानता

योग: सभी के लिए लाभदायक | राफिया नाज़ और पूनम गुप्ता के बीच संवाद

योग का अर्थ है जोड़ना। शरीर एवं आत्मा को एक साथ जोड़ कर यह हमें शुद्ध बनाता है। भारत से बौद्ध धर्म के साथ यह…

View More योग: सभी के लिए लाभदायक | राफिया नाज़ और पूनम गुप्ता के बीच संवाद

भारतीय गुरुओं की आंतरिक इंजीनियरिंग और यह पश्चिमी दृष्टिकोण से कैसे भिन्न है

Translation Credit: Sateesh Javali. जब आप इस तरह का विश्लेषण कर रहे होते हैं, तो बहुत सारा सामान चल रहा होता है, उदाहरण के लिए,…

View More भारतीय गुरुओं की आंतरिक इंजीनियरिंग और यह पश्चिमी दृष्टिकोण से कैसे भिन्न है

भारत को आदि शंकर का अभिनंदन क्यों करना चाहिए?

Source: – Swarjya Magazine. मनुष्य चिरकाल से ईश्वर को अपने हृदय में वास करने के लिए प्रार्थना करता आया है । परंतु आदि शंकराचार्य ने…

View More भारत को आदि शंकर का अभिनंदन क्यों करना चाहिए?

शिव आगम का अवतरण कैसे हुआ?

शिव आगम वे आगम हैं जो स्वयं महादेव द्वारा प्रकट किए गए थे। कामिका आगम, जो सबसे महत्वपूर्ण अगमों में से एक माना जाता है,…

View More शिव आगम का अवतरण कैसे हुआ?

शंकराचार्य के बारे में जानना आवश्यक क्यों है ?

भगवान् शंकराचार्य को जानना अवतार परंपरा को जानना है, सनातन धर्म की I भगवान् शंकराचार्य को जानना , unity in diversity को जानना है I…

View More शंकराचार्य के बारे में जानना आवश्यक क्यों है ?

भगवान् शंकराचार्य द्वारा स्थापित चार मठ

भगवान् शंकराचार्य जानते थे, कि उनके जाने के बाद भी, भारत के ऊपर शस्त्र युद्द, वैचारिक युद्द और सांस्कृतिक युद्द थोपे जायेंगे I जानते थे…

View More भगवान् शंकराचार्य द्वारा स्थापित चार मठ

भगवान् शंकराचार्य का अवतरण काल

पूरे facts और evidences के आधार पे हमारे पास तथ्य, प्रमाण, साक्ष और आंकड़े हैं जो यह बतातें हैं कि भगवन शंकराचार्य का अवतरण इसवी…

View More भगवान् शंकराचार्य का अवतरण काल