अब्राहमिक धर्मों की अन्य के प्रति शत्रुता क्यों? | नीरज अत्रि | Niraj Atri | Exclusivism Of Abrahamic Religions

जो ये पैगम्बरवाद है जिसे हम प्रॉफेटिज़्म कहते हैं, इन्होंने गॉड को भी आदराइज़ किया हुआ है कि गॉड भी अदर है। अब ये हमारे देश में लोगो के लिए समझना बड़ा मुश्किल हो जाता है। जब पहली बार मुझे भी किसी ने कहा था कि जिस अल्लाह की वो पूजा कर रहे है वो तो कोई अलग है, तो मुझे भी लगा था के बेवखूफ़ हैं, गलत कह रहे हैं, के हम नाम अलग अलग ले सकते हैं लेकिन प्रॉपर्टीज तो वही वाली हैं। तो हमारे देश का जो कल्चर है यहाँ का जो माहौल है बिलकुल ऐसा है कि चीज़ समझनी बड़ी आसान नहीं है।

या जो कहता भी है हम उसे मुर्ख समझ लेते है, हम उसकी बात समझने कि कोशिस नहीं करते। जबकि उनके स्क्रिपचरस मे ये सारी चीज़े बड़ी क्लेयरली बताई गयी हैं। के वहां पर हुमंस को अलग अलग नहीं किया जा रहा है वहाँ पर गॉड को भी अलग अलग किया जा रहा है। इसका एक्साम्पल मे बाइबिल मे से ले रहा हूँ। ये ओल्डटेस्टामेंट है, डुटेरोनॉमी चैप्टर नंबर 13, आप पहले इसका टाइटल ही देख ले ‘वॉरशिपिंग अदर गोड्स’ ये जो टाइटल है ये बताता है कि गॉड भी कई तरह के हैं, एक हमारे वाला है और एक दूसरे वाला है। तो वॉरशिपिंग अदर गोड्स, जो हमारे वाले नहीं है वो अदर गोड्स हैं। अब इसकी जो डिटेल है वो देखते हैं। ऍफ़ आ प्रोफेट और वन हु फोरेटेलस बाई ड्रीम्स, अप्पेअर्स अमॉंग यू एंड अन्नोउंस टू यू ऐ साइन और वंडर एंड ऍफ़ दी साइन और वंडर स्पोकन ऑफ़ टेक्स प्लेस एंड दी प्रॉफेट सेज़, “लेट अस फॉलो अदर गॉड” के कोई भी आदमी अगर आपको ये कहता है कि हम अदर गोड्स को वरशिप करते हैं। तो उसके साथ करना क्या है? देट प्रॉफेट और ड्रीमर मस्ट बी पुट टू डेथ! जो आपको सिर्फ इतना कहता ही है कि आओ हम किसी और गॉड कि पूजा करते हैं उसको आपने जान से मार देना है। दिस इस डी काइंड ऑफ़ डिफ्रेंटिएशन जो नेचुरल और प्रॉफेटिक रिलीजंस के अंदर आती है।

इसी चैप्टर मे इसके आगे चलते हैं, ऍफ़ योर वैरी ओन ब्रोदर और योर सन और डॉटर और योर वाइफ यू लव और क्लोजेस्ट फ्रेंड सेक्रेटली ऐन्टिसेस यू, सेइंग “लेट अस गो एंड वर्शिप अदर गोड्स” तो आपके घर के लोग है जिनसे आप बहोत प्यार करते हैं, वो कहते हैं कि हम किसी और गॉड कि वरशिप करते है। तो क्या करना है : ढू नॉट यील्ड टू देम और लिसेन टु देम। शो देम नो पिट्टी। ढू नॉट स्पेयर देम और शील्ड देम। यू मस्ट सर्टेनली पुट देम टू डेथ। सिर्फ इसलिए क्योकि वो किसी और गॉड की पूजा करने कि बात कर रहे हैं आपने उनको जान से मार देना है। उनपे कोई दया नहीं करनी।योर हैंड मस्ट बी दी फर्स्ट इन पुटिंग देम टु डेथ, एंड थेन दी हैंड्स ऑफ़ आल थी पीपल। सबसे पहले तुम उनको मारोगे,  उसके बाद कोई और ही मारने का काम करेगा।

स्टोन देम ट डेथ। पत्थर मार-मार के उनको मार देना है। क्यों मार देना है? बिकॉज़ दे ट्राइड टू टर्न यू अवे फ्रॉम दी लार्ड, योर गॉड। तो जो गॉड है वो कमांड देता है कि अगर मेरे अलावा किसी और गॉड के बारे मे पूजा कि जाती है, उसकी वरशिप कि बात भी कि जाती है, तो इर्रेस्पेक्टिव ऑफ़ के वो कोन है? वो आपका भाई है, आपका बेटा है, आपकी पत्नी है, आपका दोस्त है, आपने उनको जान से मरना है। तौ ये सेकंड पार्ट है जहाँ पर प्रॉफेटिक रिलिजन अलग हो जाते है के सिर्फ ह्यूमैनिटी को नहीं, ये गॉड को भी अदराइज करते हैं कि दूसरा गॉड अलग है हमारे वाला उससे सुपीरियर है।


Leave a Reply