गुरूवार, जून 20"Satyam Vada, Dharmam Chara" - Taittiriya Upanishad

[Q&A] ‘गुरुकुल शिक्षा पद्धति’ एवं ‘आयुर्वेद का महत्व’

गुरुकुल शिक्षा पद्धति’: https://youtu.be/Y3zYBxpm0iU क्या थी गुरुकुल शिक्षा प्रणाली? कितनी प्रकार की पद्धतियाँ होती थीं इस प्रणाली में? कहाँ से आरम्भ होती थी शिक्षा? क्या शिक्षा केवल विषय-ज्ञान तक सीमित थी या इसका कोई अलौकिक अभिप्राय भी था? जानिए श्री मेहुल आचार्य के व्याख्यान में |

आयुर्वेद का महत्व : https://youtu.be/UixTp3YiFHI आयुर्वेद के अनुसार आहार ही औषधि है| श्रीमती जिज्ञासा आचार्य हमें बता रही हैं किस प्रकार पदार्थों के गुणों के अनुकूल पथ्य-अपथ्य का पालन आवश्यक है; कैसे भोजन पकाते समय न केवल पात्रों, पदार्थों तथा स्थान की स्वच्छता व शुद्धता महत्त्वपूर्ण है, अपितु पकाने वाले के भाव की शुद्धता और पवित्रता उससे भी अधिक महत्त्वपूर्ण हैं जो हमारे भोजन को, हमारे स्वास्थ्य को और अंततः हमारे मन को प्रभावित करते हैं|

Leave a Reply

%d bloggers like this: